100+ Zindagi Shayari In Hindi | Life Shayari | ज़िंदगी शायरी

Zindagi Shayari
Zindagi Shayari

आज 2 लाइन शायरी की कड़ी में हम “100+ Zindagi Shayari In Hindi” लेकर प्रस्तुत हुए हैं। वैसे आप पहले हमारे प्लेटफॉर्म पर Life Shayari पढ़ चुके हैं। लेकिन आज फिर हमने ज़िंदगी पर शायरी पेश करने का सोचा। इसलिए आज हमारे शायर ने ज़िंदगी पे अपनी कलम को फिर चलाने का प्रयास किया है। इन शायरियों में आपको ज़िंदगी क्या है, इसके बारे में पता चलेगा। साथ ही इन शायरियों में ज़िंदगी जीते-जीते तकलीफें आती है, उनमें भी जीने की प्रेरणा मिलती है। आप इन शायरियों को पूरा पढ़े, हमें उम्मीद है कि ये Shayari On Life आपके दिल तक पहुंचने के साथ आपकी आंखों को नम कर देगी। अगर आपकी आंखें नम हो जाये, तो एक Share करना ना भूलें।

किसी की मोहताज़ मत हो – Zindagi Shayari In Hindi

ज़िंदगी मैं क्या कुछ नहीं करता तेरे लिए,
मगर तू आ जाती सामने हमेशा अंधेरे लिए।


मैंने ज़िंदगी से बस यही सीखा है,
हार मानना ये कहीं पे नहीं लिखा है।


मैं तुझसे अकेले ही लड़ने के लिए तैयार हूं ज़िंदगी,
कोई साथ नहीं तब भी आगे बढ़ने को तैयार हूं ज़िंदगी।


जिंदगी के सफ़र पे मैं चलते चलते ऐसे रुक गया,
उसने ऐसा तूफ़ां भेजा जिसके सामने मैं झुक गया।
Zindagi Shayari
Zindagi Shayari
मैं चाहता तो तुझे सब कुछ बता देता,
तेरे क़ाबिल हूँ ज़िंदगी ये जता देता।


ऐ ज़िंदगी क्या तुझे कोई तहज़ीब नहीं है,
अच्छे लोगों को तड़पाती है ये अजीब नहीं है।


एक क़फ़स के जैसी तू है ज़िंदगी,
अब बता मुझे कैसी तू है ज़िंदगी।


तू मुझसे प्यार करती है ज़िंदगी ये मैं जानता हूं,
हर वक़्त साथ रहती है ज़िंदगी ये मैं मानता हूं।


ज़िंदगी तू किसी और से अब नाराज़ मत हो,
मैं तेरे साथ हूँ पर तू किसी की मोहताज़ मत हो।

⇒ 2 Line Life ShayariLife Status In Hindi

कुछ लोग तुझे यूं ही परेशान करते हैं ज़िंदगी,
अक्सर सुना है वे काम आसान करते हैं ज़िंदगी।

जीना सिखाती है – Life Shayari

तू फ़िक्र ना कर ज़िंदगी मैं तेरे दर बदर भटकते रहूंगा,
काम ऐसे ऐसे करूँगा की हर जगह मैं महकते रहूंगा।


तेरा हाथ पकड़कर ज़िंदगी मैं उस रास्ते पर चला हूं,
जहाँ ये बात तुझे पता है कि मैं अकेले कितना जला हूं।


हर तरफ़ लोग तुझे तेरे नाम से जानते हैं,
ज़िंदगी जीना सिखाती है वे ख़ुद मानते हैं।


ये ज़िंदगी बहुत दौड़ती है जनाब,
न ख़ुद रुकती है न रुकने देती है।


ज़िंदगी हर बार हमें कुछ नया सिखाती है,
यहां कौन कितने पानी में है ये दिखाती है।

- मनोज शर्मा "एम एस"


मैं मानता हूं बेशक ये असमय दु:ख की घड़ी है,
पर उधर देखो तुम्हारे सामने ज़िंदगी खड़ी है।


आए दिन ज़िंदगी भी क्या खूब कमाल करती है,
कुछ करूं तो बवाल और न करूँ तो सवाल करती है।


ज़िंदगी के जितने भी झमेले हैं,
लगता है सब हमने ही झेले हैं।


मैं हयात से कभी हारा नहीं हूँ,
ज़िंदगी ने पाला है मारा नहीं हूँ।


ज़िंदगी के ताने हैं उम्र भर निभाने हैं,
जितने भी ज़माने हैं सब आने जाने हैं।


ज़िंदगी तुझसे न कोई अब वास्ता रहा,
न मंज़िल साफ दिखती न रास्ता रहा।


ज़िंदगी इतना भी क्यों मचल रही है,
लगता है किसी की कमी खल रही है।

किसी के नाम नहीं होती – Life Shayari In Hindi

तुम्हें तुमसे ही अब मिलाना चाहती हूँ,
मैं ज़िंदगी हूँ तुम्हारे पास आना चाहती हूँ।


ज़िंदगी है तब तक तो ज़िंदगी से प्यार करो,
जब तक ज़िंदा हो जिंदो जैसा व्यवहार करो।


ज़िंदगी तुम्हारी है ये किसी के नाम नहीं होती,
किसी के कहने भर से ज़िंदगी तमाम नहीं होती।

- मिस्टर आकाश "दीवाना तेरा"


वो ज़िंदगी जनाब ज़िंदगी नहीं होती,
अदा जिसमें ख़ुदा की बंदगी नहीं होती।


है तो ज़िंदगी मेरी पर कई पहरेदार बन गए,
मेरा कुछ ना रहा मेरे अपने हकदार बन गए।


ज़िंदगी बनती नहीं दोस्त हाथों की लकीरों से,
थे गलतफहमी में वो मिलना कभी फकीरों से।


थी बड़ी मासूम ज़िंदगी जहां ने सब सिखा दिया,
ना सिखाई इंसानियत सिर्फ मजहब सिखा दिया।


ना हिन्दू मुस्लिम ना सिख ईसाई होती है,
ज़िंदगी ये अपनी मेरे दोस्त पराई होती है।


दिल न तोड़ो उसका जो तुम्हारे करीब है,
कब साथ छोड़ दे ज़िंदगी बड़ी अजीब है।

⇒ 100+ Sad ShayariDream Shayari In Hindi


ज़िंदगी जाने क्यों तू यूं बोझ बोझ लगती है,
कभी कभी ठीक है क्यों रोज रोज लगती है।

खुशियों के दर्द दिखाऊं – Shayari On Zindagi

कुछ पल हँसके हमने क्या गुजारा कर लिया,
बेवफा निकली ज़िंदगी ने किनारा कर लिया।


ना डरना ठोकर से ज़िंदगी निखर जाती है,
लिए जो कदम पीछे तो ये बिखर जाती है।


मिली है ज़िंदगी अहसान ख़ुदा चुकाऊं कैसे,
आलम कम है खुशियों के दर्द दिखाऊं कैसे।

- अनिल "बेजुबान" शायर


एक ज़िंदगी की आरज़ू में सब बदल गया,
जैसे कि शब के वास्ते सूरज ही ढल गया।


वो कह रहे थे ज़िंदगी तो मुख्तसर सी है,
इस बात को भी यार ज़माने गुज़र गए।


थक गया हूँ आ इधर सवाल जवाब कर,
बहुत हुआ अब ज़िंदगी मेरा हिसाब कर।


साँसे थमी तो मसरूफियत का राज़ खुल गया,
बस ज़िंदगी में यारों साँसों का शोर था।


किसी के आने जाने का इतना असर हुआ,
एक दर का था मैं ज़िंदगी में दर बदर हुआ।


सुना है कत्ल की सज़ा तो मौत रही है,
फिर किस ज़ुर्म में हमें ये ज़िंदगी मिली।


हम तो ज़िंदगी को जीना चाहते थे,
कम्बख़्त ने हमें सिर्फ ज़िंदा रखा।

राह पे चलना नहीं आया – Shayari On Life

ऐ ज़िंदगी तू भी मेरे यार के जैसी है।
लाखों सदमें सह कर भी आरज़ू तेरी रही।


ऐ ज़िंदगी तुझे मसनद हो मुबारक़,
मुझको तो मेरी क़ब्र मिट्टी भली लगी।
Life Shayari
Life Shayari
नादानियाँ बस ये मेरी कि छलना नहीं आया,
ऐ ज़िंदगी तेरी राह पे चलना नहीं आया।

- राजेश कनोजिया


ऐ ज़िंदगी मुझे आज भी तेरी तलाश है,
लगाके गले जता दे तू भी मेरे पास है।


मैं तन्हा मेरा दिल तन्हा ज़िंदगी भी उदास है,
किससे कहूँ कैसे कहूँ मेरा जो भी अहसास है।


ऐ ज़िंदगी तू फिर से एक बार बेवफ़ा निकली,
देने दग़ा किसी नादाँ को फिर एक दफा निकली।


ज़िंदगी तेरे दिए ज़ख़्मो से हमने सीखा हुनर जीने का,
अब तो मेरे ज़ख़्मो को अश्को ने सीखा हुनर सीने का।


ऐ ज़िंदगी सारी ज़िंदगी तूने मुझे बहुत रुलाया है,
देख मौत ज़िंदगी को आज रोता हुआ छोड़ आया है।


जो भी मिले तुझे ज़िंदगी से उसमें तसल्ली रख,
ज़िंदगी जीना है तो दिल में अपने जिंदादिली रख।


ज़िंदगी तो एक नदी है इसे मौत के सागर में है मिल जाना,
कर ले तू मोहब्बत बना ले किसी के दिल में अपना आशियाना।

हिम्मत है तो आसान – Shayari On Life In Hindi

ज़िंदगी रुक जा कर ले थोड़ा तू भी आराम,
कुछ कर्ज, कुछ फर्ज बचे कर लूं मैं काम।


ज़िंदगी ने पूछा बता तूने न कुछ नाम किया न कुछ काम किया,
कहा मैंने दिलों में घर बसाया और चार कांधों का इंतजाम किया।

- राम सिंगार "देवदूत"


हिम्मत है तो आसान वरना पहाड़ है ज़िंदगी,
तू जिले आज में वरना निराकार है ज़िंदगी।


खोजो ना इसे किसी में प्यार है ज़िंदगी,
खुदगर्ज़ बनकर जिया तो बेकार है ज़िंदगी।


नेकी से रख वास्ता ईश्वर का उपकार है ज़िंदगी,
लिपटी हो गर गुनाहों में तो धिक्कार है ज़िंदगी।


आसान नहीं चुनौतियों की ललकार है ज़िंदगी,
तूफान से लड़ो जीने का अधिकार है ज़िंदगी।


बड़ों का सम्मान छोटों से प्यार ये आधार है ज़िंदगी,
रख ज़ुबान पर शहद मधुर व्यवहार है ज़िंदगी।


वसीहत में मिली कभी सच्ची तो कभी झूठी थी ज़िंदगी,
डटकर किया मुकाबला कभी हँसी तो कभी रूठी थी ज़िंदगी।


ज़िंदगी कोई हँस कर तो कोई रोकर गुजारता है,
कोई साहूकार तो कोई बनकर नौकर गुजारता है।

- कैलाश वशिष्ठ "के सी"

वो बहुत खास है – 2 Line Life Shayari

मतलब की दुनिया में कोई अपना ना रहा,
ज़िंदगी में अब हमारा कोई सपना ना रहा।


मेरा प्यार तेरे लिए मेरा रोना भी तेरे लिए,
तू ज़िंदगी है मेरी अब मरना भी तेरे लिए।


ज़िंदगी में खुशियों का भंडार पा लिया है,
बाप ने अपनी बेटी का प्यार पा लिया है।


ना वो मेरी आस है ना वो मेरी प्यास है,
छोटी सी ज़िंदगी में वो बहुत खास है।


प्यार में ज़िंदगी तबाह हो गई,
मोहब्बत दिल की हवा हो गई।


मेरी ज़िंदगी कर दू मैं तुझपे कुरबान,
रख यकीन मुझपे तू है मेरी जान।


मोत के मोड़ पे आके सो गया हूँ,
खुद की ज़िंदगी से ही खो गया हूँ।

⇒ All Type Two Line Shayari


आपके करीब आना तो सिर्फ एक बहाना है,
हकीकत में तो ज़िंदगी आपके साथ बिताना है।


मेरी ज़िंदगी का बहुत अंमोल किस्सा बन गई हो,
धड़कन से लेके सांस तक का हिस्सा बन गई हो।

- अशफाक

Conclusion : तो प्यारे दोस्तों आज की 2 लाइन शायरी में हमने “100+ Zindagi Shayari In Hindi” को पेश किया। ये लाइफ शायरी का पूरा Collection हमने हिंदी में पेश किया। इन शायरियों में ज़िंदगी किस मोड़ पर हमें क्या तकलीफें देती है ये पता चला। साथ ही एक तक़लीफ़ में बैठा व्यक्ति अपनी ज़िंदगी से क्या-क्या शिकायतें करता है, ये भी हमारे शायरों ने बखूबी लिखा। हमें उम्मीद है आपकी आंख ज़रूर नम हुई होगी। इन Shayari On Life को पढ़ने के बाद आपके दिल और दिमाग में क्या विचार प्रकट हुए ये हमें कमेन्ट में बताना ना भूलें। अगर आपकी और भी दूसरे विषय पर 2 लाइनर शायरी पढ़ने की इच्छा है, तो बेझिझक हमसे संपर्क करके हमें बताएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here