Rose Day Shayari In Hindi | Rose Day 2020 Shayari

rose day shayari in hindi
rose day shayari in hindi

Rose Day Shayari In Hindi | Rose Day 2020 Shayari

हेलो, Hindi Shayari के चाहने वालों। आज हम “Rose day 2020” के लिए कुछ Hindi Shayari लाये हैं। इस post में “Rose Day Shayari In Hindi“, “Rose Day 2020 Shayari” शेयर कर रहे हैं। आज हमारे शायरों ने आपके लिए “Rose day के लिए शायरियां” लिखी है। अगर आपको पसन्द आये, तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Rose Day Shayari In Hindi

rose day shayari in hindi
rose day shayari in hindi

नफरत मिट जाए हमारे मुल्कों में,
आओ मजबूत हो जाएं रिश्तों में,
माली से इजाजत मिल जाए तो मैं,
गुलाब लगा दूं तुम्हारी जुल्फों में।

तुम सोचोगे सोचने मे देर हो जाएगी,
तुम मेरी हां का हां में बस जवाब दे दो,
मैं सब कुछ समझ जाऊंगा सनम,
तुम बस मेरे हाथों में गुलाब दे दो।

जुबान से नहीं नजर से इकरार करेगा,
यह प्यार है यह तो ऐसा ही प्यार करेगा,
गुलाब खुद चलकर गुलाब देने आया है,
कौन कमबख्त है जो उसे इंकार करेगा।

– अजय वर्मा

न आये कोई भी गम तेरी राहों में,
न आये कोई भी दुःख तेरी पनाहों में,
मुझें शिकवा यही है ऐ मेरे हम दम,
बसा ले तू मुझे अपनी निगाहों में।

जब भी तेरे चेहरे पर नूर होगा,
पास होकर ये दिल मुझसे दूर होगा,
इस इबादत में अगर रब ने चाहा तो,
इक दिन तेरे माँग में सिंदूर होगा।

तेरी खूबसूरती का क्या जवाब दूं,
तुझें अपनी मुहब्बत से नवाज दूं,
मैं आज ऐसी उलझन में हूँ की,
गुलाब के गुलशन को क्या गुलाब दूं।

– शिवाजी सेन”गोल्ड”

दिल का गुलाब बनाके उपहार देना है,
इश्क़े ग़ज़ल लिखाके प्यार देना है,
किस तरह से लाऊं तुम्हें बाग से चुराके,
दूजा शहर बसाके नया संसार देना है।

दर्पण के बाग में तुम्हें आना ही पड़ेगा,
कदमों से उसपे चलके दिखाना ही पड़ेगा,
कि तेरे लिये ये कैसे मैं तड़प रहा हूँ,
मेरा भी प्यार जहां को बताना ही पड़ेगा।

– अगस्त्य नामदेव “दर्पण”

हम फूल से तेरी जुल्फों को संवार देंगे,
तुम्हें खुशियों का हम एक संसार देंगे,
रोज डे पे तुम फूल स्वीकार करके देखो,
एक गुलाब क्या तुम्हें उसका हार देंगे।

तेरी चाहत पे मुझे एतबार है,
मुझे तो सिर्फ तुमसे प्यार है,
ये गुलाब नहीं दिल है मेरा जो,
संग तेरे महकने को तैयार है।

– अंशु

Rose Day 2020 Shayari

rose day 2020 shayari
rose day 2020 shayari

फूल ले आया उनसे इक़रार करने के लिए,
पर लगा वो तैयार थी इनकार करने के लिए,
दिल बेकरार हुआ मेरा प्यार करने के लिए,
फिर कहा बीच सड़क इज़हार करने के लिए।

जबसे दिया है तुमने हमें रोज़,
याद आती हो तुम हमे हर रोज,
अब कैसे बयां करू हाल-ए-दिल,
मिलने का मन करता है बदली है सोच।

Rose Day Shayari
Propose Day Shayari
Chocolate Day Shayari

Teddy Day Shayari
Promise Day Shayari
Hug Day Shayari
Kiss Day Shayari
Valentine’s Day Shayari

मेरी जान तू खुद गुलाब जैसी है,
बाक़ियों के लिए ख्वाब जैसी है,
तेरी आंखें नशीली शराब है मगर,
तू मेरे बग़ैर अधूरी क़िताब जैसी है।

– मनोज शर्मा

जो सोचा न था वैसा इज़हार हुआ,
अब उस दिन का पूरा इंतज़ार हुआ,
वो आए थे अंदाज़-ए-नाराज़ में,
थोड़ा गुस्सा और कबूल मेरा प्यार हुआ।

उजला सवेरा पाने को अंधेरों से लड़ जाओ,
बात गुलाब की हो तो कांटों से लड़ जाओ,
ये तरक्की की सीढ़ी ऊंची तो होगी मगर,
रकाब समझो दिल मेरा पांव रखके चढ़ जाओ।

गुलाब को गुलाब देकर करना भी क्या है,
रोशनी का चांद से जुड़ना भी क्या है,
दु:ख जाने पर नहीं अब तेरे क्योंकि,
तेरा जाते जाते ये मुड़ना भी क्या है।

– मोहित

Rose Day Hindi Shayari

प्यार में तेरे मुझे ऐसा काम करना है,
अपनी जिंदगी को तेरे नाम करना है,
कोई वजूद रहे उसमें तो वो तेरा हो,
यह मोहब्बतें एलान सरेआम करना है।

दीवार बनकर बगावत करने वाले,
देखे हुए हैं बहुत ही इस जमाने में,
ईंट से ईंट उनकी गिरा के रख दूंगा,
बस तुम देर ना करना कभी आने में।

बिखरा हुआ है मंजर मेरा,
पुरानी यादों के ख्यालों में,
एक कश्ती है आस की बस,
छूटे आसमान के सितारों में।

– हिमांशु कुमार सागर

rose day hindi shayari
rose day hindi shayari

रूह को जिस्म से जुदा कर के,
मैं खुश नहैं तुझे ख़फ़ा कर के,
अब चाह ये कि तेरे पाँव पड़े,
दिल रंज है ये हाल बना कर के।

जिस तरह से अब पेश आओ तुम,
मै ख़ुश हूँ तुझे ख़ुद से बड़ा कर के,
बग़ैर तेरे हम सोचे भी कुछ कहाँ है,
सब भूल जाएंगे तुझे भुला कर के।

बोझ हो गए अपने जिस्म के साये,
मैं क़ैद हो गया तुझे रिहा कर के,
गुलाब खुशबू अब कुछ नहीं भाता,
बस रोते हैं चीला चीला कर के।

– चन्दन राज

दिल में छिपे अहसासों का सैलाब लेकर आई हूं,
मैं भी आज तुम्हारे लिए गुलाब लेकर आई हूं,
भेजा था पैगाम जो तुमने इश्क़ के इजहार में,
तुम्हारे हरेक सवालों का जवाब लेकर आई हूं।

दिल में जोश है धड़कनों में जुनून है,
आंखें उसी के खयालों में गुमसुम है,
मचल उठा दिल प्यार में इस कदर,
इस दीवानगी में अलग ही सुकून है।

मदहोश कर दिया नज़रों ने तुम्हारी,
और मुस्कुराहट पड़ गई मुझे भारी,
नींदों में ख्वाब भी तेरा ही आता है,
ये बेताबी कहीं जान न ले ले हमारी।

– शिवम् तिवाड़ी

तो हिंदी शायरी की इस series में हमने “Rose Day Shayari In Hindi“, “Rose Day 2020 Shayari” आदि आपके साथ share की। अगर आप “Valentine day” से जुड़ी और शायरियां पढ़ना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए लिंक पे click करें।

Valentine Day Shayari

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here