Best Patch Up Shayari In Hindi For Her | Patch Up Shayari

Best Patch Up Shayari In Hindi For Her
Best Patch Up Shayari In Hindi For Her

Best Patch Up Shayari In Hindi For Her | Patch Up Shayari

प्यार में Patch Up का बहुत बड़ा अहसास होता है। उसी feeling के साथ आज Best Patch Up Shayari हिंदी में लेकर आये हैं। प्यार में एक दूजे को छोड़के फिर से मिलने का अहसास कितना अच्छा होता है। वो पल प्यार को फिर हरा भरा कर देता है। अगर आप भी Patch Up Status के लिए शायरियां ढूंढ रहे हैं, तो आज आपको इसका पूरा collection मिलेगा। हमने इस feeling को बड़ी हमने से लिखा है। हमारे एक एक शायर ने अपनी अपनी feeling को शायरी में अच्छे से बयां किया है। Love Shayari की सीरीज में आज ये पोस्ट आपके लिए बेहद खास है। इसीलिए अगर ये शायरियां पसन्द आये, तो हमारी post के link को share करना ना भूलियेगा। तो चलिए पढ़ते हैं आज की पैच अप शायरी

Patch Up Shayari In Hindi – वो ज़ख्म भरने आया है

ज़ख्म मिलते हैं जो ज़माने से,
सब भर जाते हैं तुम्हारे आने से,
दर्द तो हम भी सह लेते लेकिन,
तुम मिल जाती हो इसी बहाने से।

zakhm milte hain jo zamane se,
sab bhar jate hain tumhare aane se,
dard to ham bhi sah lete lekin,
tum mil jati ho isi bahane se.

दिल से मोहब्बत कौन करता है,
कर भी ले तो ज़माने से डरता है,
ज़ख्म देकर भूल जाते हैं सब,
अब मरहम पट्टी कौन भरता है।

dil se mohabbat kaun karta hai,
kar bhi le to zamane se darta hai,
zakhm dekar bhul jate hain sab,
ab marham patti kaun bharta hai.
Best Patch Up Shayari In Hindi For Her
Best Patch Up Shayari In Hindi For Her

ज़ख्म देकर वो ज़ख्म भरने आया है,
सुना है फिर वो हम पे मरने आया है,
जो वादे किए थे कभी उसने मिलने के,
अब फिर से वो उन्हें पूरा करने आया है।

zakhm dekar vo zakhm bharne aaya hai,
suna hai phir vo ham pe marne aaya hai,
jo vade kiye the kabhi usne milne ke,
ab phir se vo unhen pura karne aaya hai.

Breakup Shayari For Her

I Miss U Shayari

थोड़ा सा मरहम थोड़ा सा लेप लगा दो तुम,
दवा कोई मेरे दर्द की कहीं से मंगा दो तुम,
मरहम पट्टी भी अगर काम न कर पाए तो,
अपने हाथों से मेरे ज़ख्मों को दवा दो तुम।

thoda sa marham thoda sa lep laga do tum,
dava koi mere dard ki kahin se manga do tum,
marham patti bhi agar kam na kar paye to,
apne hathon se mere zakhmon ko dava do tum.

वो बेवफा है बात ये सबको सताऊं तो कैसे,
उसके ज़ख्मों से इश्क है मरहम लगाऊं तो कैसे,
दर्द दिये उसने जो भी मैं तो हँसकर झेल गया,
वो बहुत नाजुक है उसको मैं सताऊं भी तो कैसे।

vo bewafa hai bat ye sabko sataun to kaise,
uske zakhmon se ishq hai marham lagaun to kaise,
dard diye usne jo bhi main to hanskar jhel gaya,
vo bahut najuk hai usko main sataun bhi to kaise.

– मिस्टर आकाश “दीवाना तेरा”

Patch Up Shayari – प्यार के जज्बात फिर से सजा लें

वक्त ने उस वक्त हमें दूर कर दिया,
बेवजह हालत ने मगरूर कर दिया,
है जुनून ए इश्क मुझमें आज़मा ले तू,
मैंने तेरे प्यार को मशहूर कर दिया।

vakt ne us vakt hamen dur kar diya,
bevajah halat ne magarur kar diya,
hai junun e ishq mujhamen aazma le tu,
maine tere pyar ko mashhur kar diya.

छोड़ दो सितम हो गए हो क्यों खफा,
सह सकूंगी अब न तेरे इश्क में ज़फा,
तुम भुला दो सारी जो भी गलतियां हुई,
जो कहोगे मान लेंगे बात सौ दफा।

chhod do sitam ho gaye ho kyon khafa,
sah sakungi ab na tere ishq me zafa,
tum bhula do sari jo bhi galtiyan hui,
jo kahoge man lenge bat sau dafa.

बिगड़ी हुई बात आ फिर से बना लें,
है अंजुमन की रात आ फिर से मज़ा लें,
वो बह गया समंदर तूफ़ान भरा था,
प्यार के जज़्बात आ फिर से सजा लें।

bigadi hui bat aa phir se bana len,
hai anjuman ki rat aa phir se maza len,
vo bah gaya samandar tufan bhara tha,
pyar ke jazbat aa phir se saja len.

– गीता राठौर

उलझी हुई बात को सुलझाने दो अब,
आज नहीं समझोगे तो समझोगे कब,
माना की सारी गलतियां मेरी ही थी,
छोड़ो गुजरी बात को अब साथ रहेंगे सब।

ulajhi hui bat ko sulajhane do ab,
aaj nahin samajhoge to samajhoge kab,
mana ki sari galtiyan meri hi thi,
chhodo gujari bat ko ab sath rahenge sab.

Attitude Shayari In Hindi

Zakhm Shayari In Hindi

कुछ हालात थे वैसे अब ठीक हो गए हैं,
सब लोग मेरे अपने मेरे पास हो गए हैं,
जिंदगी हमारी वापस आ गई है मेरे पास,
उसके आने से हम उसके गुलाम हो गए हैं।

kuchh halat the vaise ab thik ho gaye hain,
sab log mere apne mere pas ho gaye hain,
jindagi hamari vapas aa gayi hai mere pas,
uske aane se ham uske gulam ho gaye hain.

उजड़ी हुई जिंदगी को बनाने जा रहे हैं हम,
बिखरे हुए सपनों को सजाने जा रहे हैं हम,
मुझसे क्या खुद से दूर नहीं जाएगा वो,
अब उसको अपने दिल में बसाने जा रहे हैं हम।

ujadi hui jindagi ko banane ja rahe hain ham,
bikhare hue sapanon ko sajane ja rahe hain ham,
mujhse kya khud se dur nahin jayega vo,
ab usko apne dil me basane ja rahe hain ham.

– शनि सोनकर

Patch Up Quotes In Hindi – मुझे फिर से अपना हिस्सा बना लो

तू नफ़रत कर मुझसे फिर भी मुझे तेरा होना है,
बिखरा जो रिश्ता वो फिर से मुझे संजोना है,
जहां कभी सर रखकर कहा मैंने यहाँ रहता हूँ,
सुना है आज भी खाली रखा तूने वो कोना है।

tu nafrat kar mujhse phir bhu mujhe tera hona hai,
bikhra jo rishta vo phir se mujhe sanjona hai,
jahan kabhu sar rakhkar kaha maine yahan rahta hun,
suna hai aaj bhi khali rakha tune vo kona hai.

हो गई गलतियां अब भूलाओ ना,
रूठ के मुझ से यूँ दूर जाओ ना,
देखो कान भी पकड़ लिए मैंने,
अब लौट के वापस आओ ना।

ho gayi galatiyan ab bhulao na,
ruth ke mujh se yun dur jao na,
dekho kan bh pakad liye maine,
ab laut ke vapas aao na.
Patch Up Status
Patch Up Status

एक सॉरी से रिश्ता जुड़ जाये तो सॉरी,
मुझे फिर से अपना हिस्सा बना लो ना,
छोड़ो वो पुरानी बातें वो ग़लतफ़हमियां,
थोड़ा मैं मना लू थोड़ा तुम मना लो ना।

ek sorry se rishta jud jaye to sorry,
mujhe phir se apna hissa bana lo na,
chhodo vo purani baten vo galatfahmiyan,
thoda main mana lu thoda tum mana lo na.

कुछ गलतियां मेरी कुछ ग़लतफ़हमी तेरी,
बिछड़ के रिश्ता बिखेर और यादें जला दे,
या भूल के वो पुरानी रंजिशे वो गई बातें,
लौट के मुझे फिर अपने सीने से लगा ले।

kuchh galatiyan meri kuchh galatfahami teri,
bichhad ke rishta bikher aur yaden jala de,
ya bhul ke vo purani ranjishe vo gayi baten,
laut ke mujhe phir apne sine se laga le.

– पृथ्वी सिंह “आई बी”

चलो अच्छा हुआ के तुम सफ़र से लौट आये हो,
उतरने वाले ही थे तुम नज़र से लौट आये हो,
जवानी का समंदर तो बहुत गहरा है ये सच है,
गनीमत है कि उस रास्ते पे चलकर लौट आये हो।

chalo achchha hua ke tum safar se laut aaye ho,
utarne vale hi the tum nazar se laut aaye ho,
javani ka samandar to bahut gahara hai ye sach hai,
ganimat hai ki us raste pe chalkar laut aaye ho.

Patch Up Status In Hindi – वो मरहम बनकर आये हैं

मुक़द्दर का ये खेल है दुआओं में असर आना,
तरसती हो नज़र जिसको अचानक से नज़र आना,
वजह क्या थी तेरे जाने की छोड़ो कल की बातें है,
मेरी खुशियां इसी में है तुम्हारा लौट कर आना।

muqaddar ka ye khel hai duaon me asar aana,
tarasti ho nazar jisko achanak se nazar aana,
vajah kya thi tere jane ki chhodo kal ki baten hai,
meri khushiyan isi me hai tumhara laut kar aana.

आँखों में आँखें डाल के हम प्यार करेंगे,
सोई हुई आरज़ू को आज बेदार करेंगे,
मरकर भी अब न दूरी दरमियान हो कभी,
हाथों में लेकर हाथ ये इज़हार करेंगे।

aankhon me aankhen dal ke ham pyar karenge,
soyi hui aarzu ko aaj bedar karenge,
markar bhi ab na duri darmiyan ho kabhi,
hathon me lekar hath ye izhar karenge.

– राजेश कनोजिया

जो दर्द थे कभी वो आज मरहम बनकर आये हैं,
चुप्पी सादे होठ मगर आज फिर अल्फ़ाज़ लाये हैं,
जिनके बिन थे मेरे ख्वाब भी झूठे से कभी,
उन्होंने आकर फिर से मेरे ख्वाब सच बनाये हैं।

jo dard the kabhi vo aaj marham banakar aaye hain,
chuppi sade hoth magar aaj phir alfaz laye hain,
jinke bin the mere khwab bhi jhuthe se kabhi,
unhone aakar phir se mere khwab sach banaye hain.

जुदा होकर कभी मैं खोया रहा एक गुमशुदी में,
वक़्त तो चलता रहा बस मैं रुका था जिंदगी में,
मैं होश में आया हूँ फिर तेरे आने के बाद,
वरना ये जिस्म था लापता एक बेखुदी में।

juda hokar kabhi main khoya raha ek gumshudi me,
vaqt to chalta raha bas main ruka tha jindagi me,
main hosh me aaya hun phir tere aane ke bad,
varna ye jism tha lapata ek bekhudi me.

पता था ये नाराज़गी तेरी एक न एक दिन मिट जानी है,
थोड़ा गुस्सा थोड़ा रूठना आदत प्यारी सी बचकानी है,
प्यार संग थोड़ी मस्ती थोड़ी शरारत और थोड़ी नादानी,
ये सारे जो लम्हे हैं हमारे यही तो मेरी ज़िंदगानी है।

pata tha ye narazgi teri ek na ek din mit jani hai,
thoda gussa thoda ruthna aadat pyari si bachkani hai,
pyar sang thodi masti thodi shararat aur thodi nadani,
ye sare jo lamhe hain hamare yahi to meri zindagani hai.

– विनय कुमार दिवाकर

लो आ गई हो तुम मुझसे वापस मिलने,
बोलो तो की क्या थी गलती मेरे दिल ने,
यहाँ आई हो तो अब सब अच्छा ही होगा,
चलो अक़्ल तो दी तुम्हारी पुरानी मंज़िल ने।

lo aa gayi ho tum mujhse vapas milne,
bolo to ki kya thi galati mere dil ne,
yahan aayi ho to ab sab achchha hi hoga,
chalo akl to di tumhari purani manzil ne.

Patch Up Love Shayari – ज़िक्र नहीं गुजरी बातों का

कितनी ख़ुशी मिली है मुझे तेरे वापस आने से,
सब बिखर ही गया था जान तेरे यहां जाने से,
मिलकर तुझसे दिल को तसल्ली मिल गई है,
अब फ़र्क नहीं पड़ेगा इन ज़ालिमों के ताने से।

kitni khushi mili hai mujhe tere vapas aane se,
sab bikhar hi gaya tha jan tere yahan jane se,
milkar tujhse dil ko tasalli mil gayi hai,
ab fark nahin padega in zalimon ke tane se.

बहुत देर कर दी जान तुमने मेरे पास आने में,
थोड़ा बहुत तो सुनना ही पड़ता है ज़माने में,
फ़िक्र तुम ना करो मैं हूँ यहाँ तुम्हारे लिये,
अब बचा लूंगा चाहे जान जाये तुम्हें बचाने में।

bahut der kar di jan tumne mere pas aane me,
thoda bahut to sunna hi padta hai zamane me,
fikr tum na karo main hun yahan tumhare liye,
ab bacha lunga chahe jaan jaye tumhen bachane me.

सुनो तुमने ज़ख़्म भी दिया है मगर उसे भर भी दिया,
तुमने बदनाम किया मगर मेरा नाम कर भी दिया,
सुनो मैं तुम्हें अपना लूंगा अगर तुम मेरे पास आओगी,
प्यार से रखूंगा आ जाओ वरना फिर तुम पछताओगी।

suno tumne zakhm bhi diya hai magar use bhar bhi diya,
tumne badnam kiya magar mera nam kar bhi diya,
suno main tumhen apna lunga agar tum mere pas aaogi,
pyar se rakhunga aa jao varna phir tum pachhtaogi.

– मनोज शर्मा “एम एस”

हुई थी जिस्म की दूरियां दिल से तो एक थे,
ग़लतफ़हमियों के शिकार हुए इरादे तो नेक थे,
भूल के सारे गिले शिकवे मिल जाए अब दोनों,
ज़िक्र नहीं गुजरी बातों का कारण अनेक थे।

hui thi jism ki duriyan dil se to ek the,
galatfahamiyon ke shikar hue irade to nek the,
bhul ke sare gile shikave mil jaye ab dono,
zikr nahin gujari baton ka karan anek the.

खुश भी ना था मैं तेरा साथ छोड़ के,
आना भी ना चाहता था हाथ जोड़ के,
लेने आ रहा हूँ चल फिर साथ रहेंगे,
कसम तेरी जाऊँगा ना मुँह मोड़ के।

khush bhi na tha main tera sath chhod ke,
aana bhi na chahata tha hath jod ke,
lene aa raha hun chal phir sath rahenge,
kasam teri jaunga na munh mod ke.

भूले भूला दी है सारी ही हमारी,
उमंगे हो गई है फिर से कुँआरी,
वो आ रहे हैं कल लेने मुझको,
तैयार हूँ कल से पेटी भी जमा ली।

bhule bhula di hai sari hi hamari,
umange ho gayi hai phir se kuwari,
vo aa rahe hain kal lene mujhko,
taiyar hun kal se peti bhi jama li.

– कैलाश वशिष्ठ “के सी “

Conclusion : आज लव शायरी की सीरीज में हमने Best Patch Up Shayari हिंदी में प्रस्तुत की। प्यार में बिछड़ने के बाद फिर से मिलने के अहसास को हमारे शायर ने बख़ूबी बयां किया। ये अहसास आपके दिल तक पहुंचकर आपको कितना सुकून दे गया ये हमें Comment Box में ज़रूर बताए। उम्मीद है कि ये Patch Up Status आपको पसंद आये होंगे। यदि अच्छे लगे हो, तो हमारी शायरियों को अपने दोस्तों के साथ Facebook और Whatsapp पर जरूर Share कर दें। इसी के साथ अगर आपको किसी टॉपिक पर शायरी पढ़ने की इच्छा है, तो हमसे शेयर करें ताकि हम उसपे Hindi Shayari जल्द पोस्ट कर पाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here