Best 2 Line Sukun Shayari In Hindi | Sukun Status | सुकून पर शायरी

2 Line Sukun Shayari
2 Line Sukun Shayari

आज हम 2 लाइन शायरी की कड़ी में “Best 2 Line Sukun Shayari In Hindi” लेकर प्रस्तुत हुए हैं। आपकी मांग थी कि सुकून पर शायरी लेकर आएं, इसीलिए आज ये पोस्ट इसीलिए है। इन शायरियों को हमारे शायर ने बखूबी लिखने की कोशिश की है। इन्होंने इसमें प्यार में सुकून की feeling के साथ अच्छे से बयां किया है। इनमें प्यार में सुकून किस तरह और कहां से मिलता है, ये भी ज़िक्र है। उम्मीद है ये Shayari On Sukun आपको जरूर पसन्द आएगी। इसीलिए आप इन्हें अपने चाहने वालों के साथ में साझा करना ना भूले। आपको इनमें अच्छा सुकूँ मिलेगा, तो चलिए पढ़ते हैं आज की सुकूँ के लिए शायरियां

Sukun Shayari

हर किसी को धन दौलत शोहरत कमाने का जुनून है,
यहाँ हर शख्स भाग रहा है कहाँ किसी को सुकून है।


सुकून मिलता है मुझे तेरी गली में आ कर,
तुझको सुकून मिलता है मुझको तड़पा कर।


दिल को आता है करार जब ख़त्म तेरा इंतजार होता है,
मेरे आँखों को मिलता है सुकून जब तेरा दीदार होता है।


2 Line Sukun Shayari
2 Line Sukun Shayari
अब मेरे आँखों में आंसू दिल से बहता खून है,
जब से दिल टूटा मेरी जिंदगी में कहाँ सुकून है।


दिल तेरे साथ गुजारे लम्हों का सुकून ढूंढता है,
तुझे पाने का फिर से पहले सा जुनून ढूंढता है।


मैं खुशबू हूँ फूल से जुदा मत कर फिजाओं में खो जाऊँगा,
तेरी जुल्फ के साए न मिले तो मौत की गोद में सो जाऊँगा।

- राम सिंगार "देवदूत"


बहाकर मेरे इस दिल के खून को,
चले गए लेकर वो मेरे सुकून को।


अब वो बरसाते वो मानसून कहाँ,
सब पा लिया फिर भी सुकून कहाँ।

Shayari In Hindi

जिसकी बाहों में कटे मेरे सुकून के दिन,
काश लौट आए फिर से वो जून के दिन।


क्या खूब अमीरी पाई है ऐ खुदा मैंने,
पैसा तो बहुत है पर कहीं सुकून नहीं।


अगर पैसों से मिलता तो खरीद लेता,
ये सुकून है सिर्फ रहमत से मिलता है।


सुकून तो उन बाहों में ही था कोई कुछ भी कहे,
समाकर जिनमें हम जन्नत तक को भूल गये।


आंखों की गहराई से पलकें भर लाती है जल,
जब याद आतें हैं साथ बिताए वो सुकून के पल।


वो क्या गये साथ में दिल जान जुनून सब ले गए,
रूबरू आकर मेरे नींद, चैन, सुकून सब ले गए।


सुकून की नींद तो सिर्फ गाँव में ही मिलती है साहब,
सुना है शहर में तो लोग सोने से पहले गोलियां खाते हैं।


दिन आता है फिर ऐसे ही ढल जाता है बस एक ही आस में,
मैं अरसे से नहीं सोया एक सुकून भरी रात की तलाश में।

- मिस्टर आकाश "दीवाना तेरा"

Sukun Par Shayari

बहुत सुकून है अब मुझे शब ए तन्हाई में,
मेरे नाम की महफ़िल सजा दो तो भी न लौटू।


जाने क्या जुस्तजू थी जाने कैसा जुनून था,
कुछ भी हो यारो फिर भी बड़ा सुकून था।


मैं इस बेचैनी का इल्जाम कैसे उसे दूँ,
सुकून भी तो उसी से मिल के आता था।


उसे देखूँ तो बेचैनियाँ बढ़ जाती है,
जब तक न देखूँ सुकूँ नहीं आता।


मेरी जुस्तजू भी तुम हो मेरा जुनून बस तुम तक है,
हसरत नहीं तख्त-ओ-ताज़ की मेरा सुकून बस तुम तक है।


जिसे भी देखिए दौलत पे मार गया,
फाकाकाशी में चैन से फ़कीर जी गया।


वो क्या गया के सब गया लिखने को न मज़मून है,
ये हाल है एक उम्र से न जुनून है ना सुकून है।

- राजेश कनोजिया


ताउम्र सुकून खो कर सुकून ढूँढते रहे,
सुकून दिल में था हम बाहर ढूँढते रहे।


वो सुकून से जीना सीख गया,
जो हाँ में हाँ कहना सीख गया।

Sukun Ke Liye Shayari

सुकून देख कर निकलने से कोई काम नहीं हो जाता,
सुकून वो देखते हैं जिसे खुद पर विश्वास नहीं हो पाता।


रहना है सुकून से तो समय में ढलना पड़ेगा,
पकड़ के अंगुली समय के साथ चलना पड़ेगा।

Shayari On Sukun
Shayari On Sukun

करने दो जो प्यार करते हैं जिन्हें प्यार का जुनून है,
हम अपनी तन्हाईयों में मस्त है दिल को सुकून है।


दिल में सुकून है ना आखों में नींद आती है,
जिधर भी देखूँ बस तू ही तू नजर आती है।


ज़ख्म प्यार में दिया है यार ने सी लेने दो,
तन्हा छोड़ दो मुझे अब सुकून से जी लेने दो।


ठूकराया है प्यार में मुझे तुमने उस पर फिदा हो के,
चलो दिल को सुकून है जब से गई हो जुदा हो के।


सोहलवे साल का जब पहला फागुन होता है,
प्रेमी आकर रंग लगा दे दिल में सुकून होता है।

- कैलाश वशिष्ठ "के सी"

Shayari Sukun

ये मेरे सर पर जो मेरे माता पिता का हाथ है,
ख़ुश हूं मैं क्योंकि ये बड़े सुकून की बात है।


दोस्त तेरे आने से ही मुझे बहुत सुकून मिलता है,
तू हँसे तो ये मेरा दिल फूल की तरह खिलता है।


मिट्टी में खेलने का न जाने कैसा वो जुनून था,
आज पता चला साहब उसी में सारा सुकून था।


माँ मुझे रोज डाटे मारे रुलाये यही तो मेरी भी चाहत है,
क्योकि माँ की गोदी में मुझे सुकून से मिलती राहत है।


सुकून कहाँ से मिलेगा मुझे साहब,
जब मेरे दोस्त ही मुझसे रूठे हुए हैं।


जिसके पास कुछ नहीं फिर भी वो सुकून से सोता है,
पर जिसके पास सब कुछ है वो सोने के लिए रोता है।

2 Line Shayari

किसी न किसी को सूखी रोटी खाके भी सुकून मिल जाता है,
पर किसी को पूरा खाना खाके भी नहीं सुकून मिल पाता है।


दौलत की चाह में जल रहा उसका खून है,
उस दौड़ते हुए बेचारे के पास कहां सुकून है।


गाँव के मुझे उन खेतों में सुकून मिलता था,
जहाँ परिवार की मेहनत से फूल खिलता था।


आज की पीढ़ी में किसी के पास नहीं सुकून है,
उन्हें बस दूसरो से और बड़ा होने का जुनून है।

- मनोज शर्मा "एम एस"


तुम्हें देख के जो सुकून है,
गर तू जां भी मांगे तो दूं मैं।


सारा सुकून अपना मर जाता है,
जब यार अपना बदल जाता है।


हम भी ज़िंदगी सुकून से जिया करते थे,
किसी अजनबी ने इसे बेरहमी से छीना।


जाने किस सुकून के लिए हम तुम्हारे पास आते थे,
मेरा जो भी सुकून था वो भी साथ लेकर चली गयी।


न पूछो मेरा सुकून किसने लूट लिया,
वो लड़की अब बेवफ़ा हो गई दोस्तो।


सुकून मेरा और बढ़ जाता है,
जब वो मुझे अपना कहती है।


क्या इश्क़ छीन लेता है सुकून,
हां मैंने इश्क करके देख लिया।


होंठों में जो तेरे मिलता है सुकून,
मैंने सभी मय चख के देख लिए।


सुकूंन के लिए तुमसे मिलके देख लिया,
बेहाल हूं आखिर क्यों तुमसे मिल लिया।

- अम्बिका प्रसाद पाण्डेय "अंशु"

Conclusion : तो दोस्तों आज हमने 2 लाइन शायरी की कड़ी में “Best 2 Line Sukun Shayari In Hindi” पेश की। इन शायरियों में प्यार में सुकून की बात की गई। हमारे रचनाकार ने अच्छे से अपनी शायरियों में बताया कि आखिर प्यार में सुकून क्या होता है। ये सुकून पर शायरी आपको ज़रूर पसन्द आयी होगी। अगर वाकई इन शायरियों को पढ़के आपको एक सुकूँ मिला है, तो अपने विचार कमेन्ट में ज़रूर बताए। इसके साथ प्यार के लिए प्यार भरी शायरियां, Sad Shayari, Two Line Shayari के साथ कई पोस्ट कर दी है। आप उन्हें भी हमारी वेबसाइट True Feel Hindi पर पढ़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here