2 Line Dard Bhari Shayari In Hindi | 2 Line Shayari On Dard

2 Line Dard Bhari Shayari In Hindi
2 Line Dard Bhari Shayari In Hindi

2 Line Dard Bhari Shayari In Hindi | 2 Line Shayari On Dard

जैसा कि हम 2 Line Shayari की सीरीज चला रहे हैं, इसीलिए आज 2 Line Dard Bhari Shayari हिंदी में लेकर आए हैं। प्यार में जो दर्द सहा जाता है, उसे 2 लाइन में बयां कर पाना बहुत मुश्किल होता है। लेकिन हमारे शायर ने अपनी कलम में वो ताकत रखी और आज उन्होंने इन दर्द भरी शायरी में पूरे feel को लिखा। उम्मीद है इन शायरियों में छिपे दर्द को आप जरूर महसूस कर पाएंगे। अगर आपको एक लाइन भी पसन्द आये, तो अपने दोस्तों के साथ Facebook से लेकर Whatsapp तक इन Sad Shayari को जरूर Share करें।

2 Line Dard Bhari Shayari – दर्द के मारे खुद से हारे हैं

मुझको क्या अपना बनाया तूने,
सच को भी सपना बनाया तूने।

mujhko kya apna banaya tune,
sach ko bhi sapna banaya tune.

बेगाने को बनाके इस तरह से अपना,
बेहतर होता हमे मार ही देती सपना।

begane ko banake is tarah se apna,
behtar hota hame mar hi deti sapna.

जो राज़ है उसे कभी खोलना मत,
शायर से कहती है कुछ बोलना मत।

jo raaz hai use kabhi kholna mat,
shayar se kahti hai kuchh bolna mat.

तेरे दर्द के मारे खुद से हारे हैं हम,
जीतकर दुनिया को बेसहारे हैं हम।

tere dard ke mare khud se hare hain ham,
jitkar duniya ko besahare hain ham.
2 Line Dard Bhari Shayari In Hindi
2 Line Dard Bhari Shayari In Hindi

दर्द दुनिया का सीने में दबाकर बैठे हैं,
किसी को जो अपना बनाकर बैठे हैं।

dard duniya ka sine me dabakar baithe hain,
kisi ko jo apna banakar baithe hain.

दर्द ए दिल जब भी हद पार हो जाता है,
मेरा तुझपे और भी अधिकार हो जाता है।

dard e dil jab bhi had par ho jata hai,
mera tujhpe aur bhi adhikar ho jata hai.

Dard Bhari Shayari

2 Line Bewafa Shayari

रोते गाते तड़पकर चीखता चिल्लाता हूँ,
मालूम है नहीं आएगा फिर भी बुलाता हूँ।

rote gate tadapkar chikhata chillata hun,
malum hai nahi aayega phir bhi bulata hun.

जिसके लिए खुद को कभी बेचा सड़कों पर,
और वो मरते रहे दो कौड़ी के लड़कों पर।

jisake lie khud ko kabhee becha sadakon par,
aur vo marate rahe do kaudee ke ladakon par.

2 Line Dard Bhari Shayari In Hindi – दर्द भरा ग़म

आए तो कहाँ जाए तो कहाँ दर्द ए दिल सुनाएं तो कहाँ,
तुम ही दिखते हो हर जगह रहबर दिल लगाएं तो कहाँ।

aaye to kaha jaye to kaha dard e dil sunaye to kaha,
tum hi dikhte ho har jagah rahbar dil lagaye to kaha.

तुझ पर लिखने के लिए बहुत कुछ है पर अभी तक लिखा नहीं है,
ये क्या गनीमत है सपना दीवाना तेरा अभी तक बिका नहीं है।

tujh par likhne ke liye bahut kuchh hai par abhi tak likha nahi hai,
ye kya ganimat hai sapna deevana tera abhi tak bika nahi hai.

– मिस्टर आकाश “दीवाना तेरा”

लो फिर उसी राह पर वापस मैं लौट आया हूं,
जिस राह पर सबसे ज़्यादा मैं चोट खाया हूं।

lo phir usi rah par vapas main laut aaya hun,
jis rah par sabse zyada main chot khaya hun.

अपने ग़म में मैं उनके लिए ऐसे क़लाम लिखता हूं,
दर्द तो उन्होंने दिया ही है फिर भी सलाम लिखता हूं।

apne gam me main unke liye aise qalam likhta hun,
dard to unhone diya hi hai phir bhi salam likhta hun.

2 Line Shayari On Dosti

Nafrat Shayari In Hindi

न जाने क्यों सब हमे दर्द दे जाते हैं,
क्या दर्द देने में सबको मजा आता है।

na jane kyon sab hame dard de jate hain,
kya dard dene me sabko maja aata hai.

जनाब सारे दर्द को मैं अब भुला बैठा हूँ,
जो दर्द देते हैं उन्हीं को अब बुला बैठा हूँ।

janab sare dard ko main ab bhula baitha hun,
jo dard dete hain unhi ko ab bula baitha hun.

कितना दर्द देंगे मुझे ये जिंदगी में यारों,
मैं तो कब का ख़ुद को क़ब्र में सुला बैठा हूँ।

kitna dard denge mujhe ye jindagi me yaaro,
main to kab ka khud ko kabra me sula baitha hun.

कितने लोग है यहाँ जो हमे दर्द भरा ग़म देकर बैठे हैं,
उन्हें क्या पता कि हम पहले से आंखे नम लेकर बैठे हैं।

kitne log hai yaha jo hame dard bhara gam dekar baithe hain,
unhe kya pata ki ham pahle se aankhe nam lekar baithe hain.

2 Line Shayari On Dard – जब वो हालात बताने लगी

चिल्लाता हूं अपने ही दर्द को दिल में रखकर,
दर्द में कितना दर्द है पता चला उसे चखकर।

chillata hun apne hi dard ko dil me rakhkar,
dard me kitna dard hai pata chala use chakhkar.

मजा आ रहा है ना तुम्हें मुझको दर्द में देखकर,
तुम्हारे लिए ही चुप बैठा हूँ ख़ुद को गम में सेककर।

maja aa raha hai na tumhe mujhko dard me dekhkar,
tumhare liye hi chup baitha hun khud ko gam me sekkar.

शुक्र मनाओ की मैंने तुम्हें अभी तक दर्द नहीं दिया है,
तुम याद रहो इसलिए दर्द को अभी तक नहीं सिया है।

shukra manao ki maine tumhe abhi tak dard nahi diya hai,
tum yad raho isliye dard ko abhi tak nahi siya hai.

मैं तैयार हो गया दर्द को सहने के लिए,
और दर्द भी तैयार है दिल में रहने के लिए।

main taiyar ho gaya dard ko sahne ke liye,
aur dard bhi taiyar hai dil me rahne ke liye.

Aansu Shayari In Hindi

All Type Sad Shayari

हर तरफ़ देखो दर्द के बेचारे मारे बैठे हैं,
दर्द को हराना था पर उन्हीं से हारे बैठे हैं।

har taraf dekho dard ke bechare mare baithe hain,
dard ko harana tha par unhi se hare baithe hain.

– मनोज शर्मा “एम एस”

वो जुदाई बयां हम से करने लगे,
होंठ हीले भी नहीं आंसू बहने लगे।

vo judai bayan ham se karne lage,
honth hile bhi nahi aansu bahne lage.

जब फोन पर वो हालात बताने लगी,
सिसकियों की आवाजें आने लगी।

jab phone par vo halat batane lagi,
siskiyo ki aavaje aane lagi.

खत बता रहा है कितने दु:खी होंगे आप,
बहते आंसू कई बार किये होंगे साफ।

khat bata raha hai kitne dukhi honge aap,
bahte aansu kai bar kiye honge saf.

हँस के बात कर रहे थे छुपा के दर्द सीने में ,
चुरा के आँखे बार बार भीग रहे थे पसीने में।

hans ke bat kar rahe the chhupa ke dard sine me,
chura ke aankhe bar bar bhig rahe the pasine me.

2 Line Sad Shayari – अजनबी से राब्ता क्या है

गहरी तकलीफ होती है दिल के दर्दों में,
छूपा नहीं सकता कोई घूंघट या पर्दों में।

gahri taklif hoti hai dil ke dardo me,
chhupa nahi sakta koi ghunghat ya pardo me.

पछता रहे हैं हम तेरी वो हरकते छूपा के,
क्या मिल गया मुझे अपनी इज्ज़त लूटा के।

pachhta rahe hain ham teri vo harkate chhupa ke,
kya mil gaya mujhe apni ijzat luta ke.

यहाँ दर्द बेवफाई का बहुत सहते होंगे,
कुछ बयां करते हैं कुछ चुप रहते होंगे।

yaha dard bewafai ka bahut sahte honge,
kuchh bayan karte hain kuchh chup rahte honge.

रोग इश्क का दिल में लगा के गया,
कई रातों से हमको जगा के गया।

rog ishq ka dil me laga ke gaya,
kai rato se hamko jaga ke gaya.

– कैलाश वशिष्ठ “के सी”

दर्द दिलों के वो क्या जाने,
पत्थर है जिनके सीने में।

dard dilo ke vo kya jane,
patthar hai jinke sine me.

दोस्त भी क्या खूब मिले हैं,
हँसता हूँ तो कहते हैं दर्द क्या है।

dost bhi kya khub mile hain,
hansta hun to kahte hain dard kya hai.

सांस थमी तो चैन मिला है,
जब दर्द ने पार हदें सब कर ली।

sans thami to chain mila hai,
jab dard ne par hade sab kar li.

प्यार की इन्तहा तो होती है,
दर्द की इन्तहा नहीं होती।

pyar ki intaha to hoti hai,
dard ki intaha nahi hoti.
2 Line Shayari On Dard
2 Line Shayari On Dard

दर्द तो अपनो से मिलते हैं,
अजनबी से राब्ता क्या है।

dard to apno se milte hain,
ajnabi se rabta kya hai.

जहाँ की खुशी से उसे क्या मतलब,
जिसे तेरे सुकून से ही सुकून मिलता हो।

jahan ki khushi se use kya matlab,
jise tere sukun se hi sukun milta ho.

पल भर के लिए खुशी मेरे पास मत आ,
ये जो दर्द है ताउम्र का हमसफर है।

pal bhar ke liye khushi mere pas mat aa,
ye jo dard hai taumra ka hamsafar hai.

खुशियों की हसरत करते हो,
दर्द की दिल में जगह बना लो।

khushiyo ki hasrat karte ho,
dard ki dil me jagah bana lo.

अपना जिन्हें कहते थे अब वो भी नहीं,
हम दर्द बताते हैं वो हँसी उड़ाते हैं।

apna jinhe kahte the ab vo bhi nahi,
ham dard batate hain vo hansi udate hain.

– राजेश कनोजिया

Sad Shayari In 2 Line – आज तक लौट कर नहीं आयी

मेरा जो साथ छोड़ा ठीक था गैर की हो अब,
दिया ये दर्द मुझको जो करारा सा नहीं लगता।

mera jo sath chhoda thik tha gair ki ho ab,
diya ye dard mujhko jo karara sa nahi lagta.

मैंने तो यूं ही कहा था कि आंसू नहीं खुशी के आंसू है,
मौके में जाके फिर वो आज तक लौट कर नहीं आयी।

maine to yun hi kaha tha ki aansu nahi khushi ke aansu hai,
mauke me jake phir vo aaj tak laut kar nahi aayi.

इन सितारो में देखते थे तुम्हे कभी,
तुम बदल गये इन सितारो की तरह।

in sitaro me dekhte the tumhe kabhi,
tum badal gaye in sitaro ki tarah.

अब तो आईने भी हमे देखकर दु:खी हो जाते हैं,
हम आज भी उस बेवफा के लिये संवर जाते हैं।

ab to aayine bhi hame dekhkar dukhi ho jate hain,
ham aaj bhi us bewafa ke liye sanvar jate hain.

मुझे तुम्हे मुस्कुराते हुए देखना अच्छा लगता था,
उसकी कीमत खुद को तबाह करके चुकानी पड़ी।

mujhe tumhe muskurate hue dekhna achchha lagta tha,
uski kimat khud ko tabah karke chukani padi.

मेरे लिये अंधेरे में जुगूनू की तरह थी वो,
साथ छोड़के जहां रोशन करने चली गयी।

mere liye andhere me jugunu ki tarah thi vo,
sath chhodke jahan roshan karne chali gayi.

हर समय शाम ओ सुबह वही याद आती है,
कोई बता देना उसे कि भूले नहीं है हम।

har samay sham o subah vahi yad aati hai,
koi bata dena use ki bhule nahi hai ham.

हमे देखकर अब मुस्कुराती नहीं हो बात क्या है,
जीने की वजह या फिर पसंद ही बदल गयी है।

hame dekhkar ab muskurati nahi ho bat kya hai,
jine ki vajah ya phir pasand hi badal gayi hai.

– अम्बिका प्रसाद पाण्डेय “अंशु”

Conclusion : तो दोस्तों आज की दर्द भारी शायरी आपको कैसी लगी। उम्मीद है इन शायरियों में छिपे हुए दर्द को आप महसूस कर पाए होंगे। आज की पोस्ट 2 Line Dard Bhari Shayari हिंदी में पूरे feel के साथ लिखी गई। प्यार में जो दर्द एक आशिक सहता है, उसे सभी शायर ने बख़ूबी लिखा। आपके दिल में क्या विचार आये, ये हमें कमेन्ट बॉक्स में लिखके जरूर बताएं। ऐसी ही दर्द भरी शायरियां और 2 लाइन शायरी पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट को Subscribe जरूर करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here